जन्मों से बिछुड़े थे, दर्श पा रूहों को सुकून आया…