सौंदर्य प्रसाधनों में उबटन का महत्व घर पर ही बनाएं उबटन

नारी अपने सौंदर्य के प्रति प्राचीन काल से ही सजग रही है। प्राचीन काल में सौंदर्य प्रसाधनों में उबटनों का बड़ा ही महत्त्व था, लेकिन आज की भाग-दौड़ की जिंदगी में उबटनों का प्रयोग कम होता जा रहा है तथा महिलाएं आए दिन ब्यूटी पार्लरों की शरण लेने लगी हैं।

ब्यूटी पार्लरों में जाने में काफी पैसा भी खर्च होता है तथा विभिन्न रासायनिक पदार्थों के प्रयोग से त्वचा पर प्रतिकूल प्रभाव भी पड़ता है। शरीर की सुंदरता तो प्रकृति की देन है। हल्के-फुल्के प्राकृतिक सौंदर्य प्रसाधन (उबटन) जहां मुखमण्डल की सुंदरता बढ़ाते हैं, वहीं बाजार में मिलने वाले सस्ते तेज रासायनिक पदार्थ हमारे चेहरे की सुंदर कोमल त्वचा पर उल्टा असर करते हैं।

धनी वर्ग ही नहीं, बल्कि मध्यमवर्गीय परिवारों की महिलाएं भी इस दौड़ में पूरी तरह से शरीक हैं। फैशन के साथ-साथ सुंदर बनने की इच्छा और दिखावे की लालसा से युवतियां इस ओर भागती जा रही हैं जैसे-ब्यूटी पार्लरों में ही सुंदरता लुट रही हो।

केवल कामकाजी स्त्रियां ही नहीं, छात्राएं और गृहणियां भी सजने-संवरने लगी हैं। तो क्यों न हम घर पर ही घरेलू उबटनों का प्रयोग करें।

कुछ घरेलू उबटन इस प्रकार करें प्रयोग-

• एक-डेढ़ चम्मच शहद में एक चम्मच कॉफी को अच्छी तरह मिलाएं। अब इसे लेप की तरह चेहरे पर लगाएं व आधे घंटे बाद धो लें, चेहरे पर नई रौनक छा जाएगी।

• चेहरे, माथे, गर्दन, और हाथ की सफाई एवं सुंदरता के लिए हमें चंदन, बेसन, दही, नींबू के रस का उपयोग करना चाहिए। इससे न केवल हमारे रंग में निखार आयेगा, बल्कि हमारी त्वचा भी निरोग रहेगी।

• कच्चे दूध में गुलाबजल मिलाकर रूई से त्वचा पर लगाएं, पूरा मैल रूई पर आ जाएगा।

• रात्रि में सोने से पूर्व ग्लिसरीन, नींबू व गुलाबजल का मिश्रण चेहरे व हाथ-पैर पर लगाएं। सर्दियों के लिए यह एक लाभदायक उबटन है। इससे त्वचा भी चिकनी बनी रहती है।

• संतरे के छिलकों को सुखाकर बारीक पीस लें व इन्हें दूध में मिलाकर चेहरे पर लगाएं व सुबह गुनगुने पानी से त्वचा को धो लें।

• ताजी मूली के सफेद भाग को अच्छी तरह पीसकर रस निकाल लें तथा इसके बराबर भाग में मक्खन मिला लें व इस मिश्रण को चेहरे व गर्दन पर लगाएं तथा एक घण्टे बाद धो लें। यह मिश्रण त्वचा पर निखार लाने का अचूक उपाय है।

• दही में संतरे या नींबू का रस एक चम्मच डालें और इसे चेहरे पर कुछ देर लगाने के बाद धो लें, त्वचा मुलायम व कोमल रहेगी।

सौंदर्य के लिए ब्यूटी पार्लर में जाना आवश्यक है, इस भ्रम को दिमाग से निकाल दें। घर को ही अपना ब्यूटी पार्लर बनायें और अपनी निजी सीमा, साधन एवं आवश्यकता के अनुसार अपने आपको सजाएं और संवारें।

शिष्टता और शालीनता की सीमाओं में हल्का मेकअप करें।

आप देखेंगी कि आप ब्यूटी पार्लर में जाने वाली महिला से कहीं ज्यादा खूबसूरत और निरोगी रहेंगी और असल बात यह भी कि अपने-आपको खुश रखें। – सपना गोयल