थैंक यू – कब और कैसे : थैंक यू, सॉरी ये शब्द ऐसे हैं कि आम भाषा में इनका प्रयोग अधिकतर सभी करने लगे हैं। बड़े से छोटे तक ‘थैंक यू’ कई अवसरों पर हम बोलते हैं लेकिन इसे कहने का भी एक अंदाज होता है। जिसे थैंक यू बोला जाता है उसका मन प्रफुल्लित हो उठता है।

* हमें थैंक यू सामने वाले को तब बोलना चाहिए अगर उसने आपको अच्छी सेवा दी हो या दिल से पूरा प्रयास किया हो आपके लिए।

* किसी ने कोई उपहार या ट्रीट दी हो।

* किसी के साथ काम पूरा करने का अवसर मिला हो और उसके साथ काम करके मजा आया हो।

* किसी ने आपकी उम्मीद से ज्यादा काम अच्छा और जल्दी कर दिया हो।

* किसी ने आपके जरूरी काम को आउट आॅफ द वे जाकर काम कर दिया हो।

* आप किसी को कोई विशेष काम सौंपते हैं पूरा होने पर थैंक यू तह दिल से बोलें।

* थैंक यू काम खत्म होते ही कहें, कुछ देर बाद थैंक यू का वह महत्व नहीं रहता। अगर काम करने वाला सामने ना हो तो उसे मेल कर, मैसेज कर या फोन कर तुरंत थैंक यू कहें।

* अगर आपके टीम वर्क में किसी विशेष विषय पर चर्चा हो तो उस विषय की जानकारी एकत्रित करने वाले को थैंक यू कहना ना भूलें, ताकि उसे लगे उसके काम को नोटिस किया गया है।

* अगर आपने कहीं जाना हो, किसी ने आपकी व्यवस्था कर दी हो, पर मजबूरीवश नहीं जा पाये, तब भी उसे थैंक यू अवश्य कहें।

* जब किसी का धन्यवाद कर रहे हैं तो अन्य फालतू बातें ना करें, नहीं तो ध्यान मुद्दे से भटक जाएगा और थैंक यू की कीमत नहीं रहेगी।

* थैंक यू जब भी करें गर्मजोशी से करें, अनमने या बनावटी तरीके से नहीं। जैसे कि थैंक यू आपने मेरा जरूरी काम कर दिया।

* आवश्यकता पड़ने पर थैंक यू नोट भी भेजा जा सकता है।

* चेहरे पर हल्की मुस्कान और बॉडी लैंग्वेज सही रखते हुए थैंक यू कहें। हो सके तो हाथ भी मिलाएं।

* मल्टी टास्किंग में व्यस्त रहते हुए थैंक यू ना बोलें। सामने वाले पर पूरा ध्यान केंद्रित करते हुए थैंक यू बोलें।

* अगर आप फोन पर थैंक यू कह रहे हैं तो समय का ध्यान अवश्य रखें कि कहीं उनका सोने, खाने या बच्चों को स्कूल भेजने का समय ना हों।

* ई मेल करते समय थैंक यू सिंपल शब्दों में कहें, किसी बुक से लाइनों को चुरा कर ना लिखें।

* अगर संभव हो तो थैंक यू कार्ड पर थैंक यू लिख कर भी भेजा जा सकता है।

– सारिका