sachi shiksha

सर्दियों के कुछ हर्बल ड्रिंक: सर्दियों में सर्दी जुकाम का होना आम समस्या है। इसी प्रकार जोड़ों में दर्द भी इन दिनों बढ़ जाता है, इन सब समस्याओं के लिए बार बार दवा का सेवन भी कई साइड इफेक्ट शरीर में छोड़ जाता है। हमारी रसोई में ऐसे कई मसाले और आसानी से मिलने वाले कुछ हर्ब्स हैं जिन्हें पानी में उबालकर हर्बल पेय तैयार कर पीया जाए, तो काफी लाभ मिलता है। इनके सेवन से आराम के साथ-साथ कोई साइड इफैक्ट भी नहीं होता। सावधानी अवश्य बरतनी चाहिए, क्योंकि कई बार हम अपने शरीर के स्वभाव को नहीं समझ पाते कि हमारा शरीर वात, पित, कफ किसका है। ऐसे में एक-दो बार लेने पर लाभ लगे तो उसका प्रयोग आगे के लिए करें, ना माफिक आए तो ना लें।

सफेद तिल का ड्रिंक:-

कष्टकारी और नियमित माहवारी के लिए यह पेय लिया जा सकता है। एक छोटे चम्मच सफेद तिल को एक गिलास पानी में 3 मिनट तक उबालें। ठंडा होने पर मासिक धर्म के दौरान इसको पीएं। लाभ मिलेगा।

लौंग ड्रिंक:-

लौंग पेय अपच और गैस की समस्या से राहत दिलाता है। 2-3 लौंग को एक कप पानी में उबाल लें और गुनगुना पी लें। इसका गर्मी सर्दी दोनों में सेवन कर सकते हैं।

साबुत धनिया ड्रिंक:-

जिन्हें सिरदर्द 2 से 3 दिन तक चलता हो, वे साबुत धनिया ड्रिंक का सेवन करें। रात्रि में एक गिलास पानी में एक चम्मच साबुत धनिया धोकर भिगो दें। प्रात: इस पानी का सेवन करना लाभप्रद होता है। इसे भी हर मौसम में ले सकते हैं।

दालचीनी ड्रिंक:-

दालचीनी का पानी ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रण में रखता है। दालचीनी के एक डेढ़ इंच के टुकड़े को कूट कर छोटा छोटा कर लें। इन टुकड़ों को एक कप पानी में मिलाकर धीमी आंच पर 10 मिनट तक उबालें। सर्दियों में गुनगुना कर पीएं।

अदरक ड्रिंक:-

बदहजमी होने पर अधिक गरिष्ठ भोजन खाने पर और जी मिचलाने पर अदरक टॉनिक का सेवन करें, राहत मिलेगी। इसके सेवन के थोड़ी देर बाद पाचन क्रिया दुरुस्त हो जाएगी और मुंह का स्वाद भी ठीक होगा। एक छोटा टुकड़ा सूखे अदरक को एक गिलास पानी में उबालें। गुनगुना होने पर छान कर पी लें।

इलायची ड्रिंक:-

दांत दर्द होने पर गैस और अपच होने पर इलायची टॉनिक बड़े काम का होता है। 2-3 छोटी इलायची को एक गिलास पानी में 3 मिनट तक उबालें। गुनगुना होने पर छान कर पी लें। मोटी इलायची का पानी भी इसी प्रकार तैयार कर हिचकियां आने पर लें, दांत दर्द मे इस पानी के कुल्ले करने से भी आराम मिलता है।

जीरा ड्रिंक:-

जीरा पाचन शक्ति को बढ़ाता है और शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकालने में मदद करता है। आधा छोटा चम्मच जीरा कड़ाही में सूखा भूनें। रंग बदलने पर उसमें एक कप पानी डालें और 3 मिनट तक धीमी आंच पर उबाल लें और ठंडा होने पर छानकर पी लें।

सौंफ ड्रिंक:-

सौंफ पाचन क्रिया को सक्रिय करती है। सौंफ का ड्रिंक गैस, जी मिचलाने, खट्टी डकारें आदि आने पर लेने से लाभ मिलता है। सर्दियों में इसे पेशाब में जलन होने वाले लोग भी ले सकते हैं। जो महिलाएं बच्चों को स्तनपान कराती हैं उनके लिए बहुत लाभप्रद है सौंफ का पानी। इससे उन महिलाओं में दूध अधिक बनता है। एक छोटा चम्मच सौंफ 4 से 5 घंटे एक गिलास पानी में भिगोकर रखें, प्रात:काल खाली पेट सेवन करें। गर्मियों में इसमें 2-3 दाने मिश्री के भी डाल सकते हैं।

एनर्जी ड्रिंक:-

तुलसी औषधीय गुणों से भरपूर होती है। इसका प्रयोग एनर्जी ड्रिंक के लिए किया जा सकता है। इस ड्रिंक के सेवन से फेफड़े स्वस्थ रहते हैं और शरीर के तंत्र सुचारू रूप से काम करते हैं। एक गिलास पानी में ताजी तुलसी की पत्तियां डालें और धूप में एक डेढ़ घंटे के लिए रख दें। इस पानी को दिन में किसी भी वक्त पी सकते हैं। घर में कई गमलों में तुलसी लगाएं। खांसी-जुकाम से बचने के लिए 4 से 5 ताजी पत्तियां प्रात: पानी के साथ निगल लें।

मेथी ड्रिंक:-

मेथी शरीर में खून की कमी को दूर करती है और ब्लड शुगर के स्तर को कम करती है। आधा छोटा चम्मच मेथीदाने को 1 गिलास पानी में रात्रि में भिगो दें और प्रात: खाली पेट छानकर पीएं। मेथीदाने का पानी जोड़ों के दर्द में भी लाभ पहुंचाता है।
ये सब ड्रिंक स्वास्थ्य हेतु लाभप्रद हैं। इनका सेवन पहले 2-3 बार ट्राई कर लें और माफिक आने पर ही लें।
– नीतू गुप्ता