गर्मी में ताजगी देते हैं तरल पदार्थ

मौसम अनुसार हमें अपनी त्वचा की कैसे देखभाल करनी है, उन उपायों को तो हम ध्यान में रख लेते हैं पर मौसम अनुसार अपने शरीर को स्वस्थ कैसे रखना है, इस पर ध्यान नहीं देते जबकि यह अति आवश्यक है। तो गर्मी आने पर हम तेज धूप से अपने आपको कैसे बचा कर रखें, इस का ध्यान करते हुए शरीर में आने वाली कमजोरी को दूर कैसे करें। इस पर भी पूरा ध्यान देना चाहिए।

गर्मियों में पसीना अधिक आने से शरीर में ऊर्जा की कमी आ जाती है। इस ऊर्जा को बनाए रखने के लिए हमें तरल पेयों पर विशेष ध्यान देना होगी, ताकि शरीर में पानी की कमी न हो।

शरीर को अंदर तक ठंडा रखने के लिए हमें दिन-भर में पानी का सेवन पर्याप्त मात्रा में करना चाहिए। अगर अधिक पानी नहीं पी पाते हैं तो रूह अफजा शर्बत वगैरह पानी में डालकर लें। नींबू पानी भी ले सकते हैं। सॉफ्ट डिंÑक्स और रेडीमेड जूस शरीर को ऊर्जा तो देते हैं और ठंडक भी प्रदान करते है। परन्तु सेहत के लिहाज से इनका अधिक सेवन नुकसानदेह होता है।

पानी का करें सेवन:

दिन भर में 8 से 10 गिलास पानी तो अवश्य पीना चाहिए। पानी से शरीर को कई लाभ होते हैं। शरीर में नमी बनी रहती है। शरीर से विषैले पदार्थ पसीने और मलमूत्र के द्वारा निकलते हैं। वैसे रूम टेम्परेचर वाला पानी पीने के लिए उत्तम होता है, यह स्वास्थ्य हेतु अच्छा माना जाता है। दिन में चाहें तो एक दो बार गुनगुना पानी भी पी सकते हैं। इस सबसे पाचन शक्ति ठीक रहती है।

कमजोर पाचन शक्ति वालों को ठंडा पानी नुकसान पहुंचाता है। पानी के अलावा नींबू पानी, नारियल पानी का सेवन भी कर सकते हैं। झटपट एनर्जी हेतु जूस, पानी में शहद, मीठी लस्सी भी ले सकते हैं, पर इनका भी नियमित सेवन स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है।

फ्रूट और वेजिटेबल जूस:

फ्रेश फ्रूट जूस शरीर को इंस्टेंट एनर्जी देता है क्योंकि फ्रूटस में नेचुरल शुगर की मात्रा अधिक होती है जो जूस के रूप में खून में जल्दी घुल जाती है और शरीर को ऊर्जा प्राप्त होती है। अधिक जूस भी शरीर को नुकसान पहुंचाता है। जूस बच्चों, रोगियों और वृद्घ लोगों के लिए अधिक लाभप्रद होता है। निरोगी लोगों को फ्रूट्स का सेवन अधिक करना चाहिए ताकि शरीर को उपयुक्त मात्रा में रेशा प्राप्त हो सके। वेजिटेबल जूस से शरीर को सब्जियों की मात्रा तरल रूप से मिल जाती है जिससे शरीर को लाभ मिलता है।

जूस बाजार में रेहड़ियों आदि से न पीकर घर पर अच्छी तरह से फ्रूट्स, वेजिटेबल्स को धोकर जूस निकालें और पीएं तो लाभ पूरा मिलेगा।

हर्बल टी:

हर्बल टी में कैफीन की मात्रा न होने से शरीर के लिए यह सर्वोत्तम है। नियमित सेवन करने से पाचन संबंधी समस्याओं में लाभ मिलता है। हर्बल टी में कई फ्लेवर्स उपलब्ध हैं, अपनी पसंद अनुसार हर्बल-टी पीने की आदत स्वास्थ्य हेतु लाभप्रद होती है।

लस्सी का सेवन करें:

डबल टोंड दूध के दही से बनी लस्सी शरीर को अंदर तक ठंडा करती है, गर्मियों में इसका नियमित सेवन लाभप्रद है। लस्सी आप फीकी, हल्के नमक, जीरे वाली ले सकते हैं।

डी-कैफिनेटेड काफी:

डी-कैफिनेटेड कॉफी में कैफीन की मात्रा बहुत कम होती है। कॉफी के शौकीन लोगों को इसका सेवन गर्मियों में करना चाहिए पर ध्यान रखें, इसमें क्रीम, दूध और चीनी की मात्रा कम रखें, और पानी साफ होना चाहिए, अच्छा होगा अगर बगैर चीनी व दूध से लें।

स्मूदीज:

गर्मियों में फ्रेश फ्रूट्स को काटकर मिक्सी में अच्छी तरह मिक्स कर लें। आधी कटोरी दही भी उसमें मिला लें। फिर उसे कुछ देर के लिए फ्रीजर में रख कर सेवन करें।

अगर आपने उसी समय उसका सेवन करना है तो उसमें घर में बनी बर्फ के एक-दो पीस चूरा कर मिला के सेवन कर सकते हैं। स्मूदीज पीने से शरीर को काफी ऊर्जा महसूस होगी।
– आरती रानी