मानसून में भी बनी रह सकती है चेहरे की रंगत

महिलाओं में सुंदरता के प्रति हमेशा से क्रेज रहा है। इसलिए समय-समय पर अपने चेहरे व त्वचा की देखभाल के लिए तरह-तरह के प्रयोग महिलाएं करती रहती हैं। मानसून के बरसाती मौसम में चेहरे का खास ख्याल रखने की आवश्यकता होती है। मानसून के दिनों में वातावरण में पसीना, नमी, मैल, धूल-मिट्टी छाई रहती है। अत: इस दुविधा से बचने के लिए कुछ अच्छी इंडियन मास्क की आवश्यकता होती है। हम बताते है आपको ऐसे कारगर उपाय :-

मुल्तानी मिट्टी पैक:

फुलर्स अर्थ या मुल्तानी मिट्टी के उपयोग से त्वचा से धूल और गंदगी साफ हो जाती है और त्वचा में नमी भी बनी रहती है। 5-6 चम्मच मुल्तानी मिट्टी लें और इसमें गुलाब जल मिलाएं। इस मास्क को चेहरे और गर्दन पर लगायें और कुछ देर सूखने दें। जिन लोगों की त्वचा शुष्क है, उन्हें इस मास्क का उपयोग नहीं करना चाहिए।

फ्रूट फेस मास्क:

एक कटोरी में केले के 1-2 टुकड़े, तरबूज के 1-2 टुकड़े, सेब के 1-2 टुकड़े और एक स्ट्रॉबेरी मिलाएं। अब इन्हें एक साथ पीसें और गाढ़ा पेस्ट बनायें। इसमें दो चम्मच बेसन और एक चम्मच दही मिलाएं। सभी चीजों को अच्छी तरह मिलाएं और इसे चेहरे पर अच्छी तरह लगायें। कुछ देर तक मसाज करें और सूखने दें। यह फेस मास्क सभी प्रकार की त्वचा वाले लोगों के लिए उपयोगी है।

केले से बना मास्क:

केले के मास्क का उपयोग करने से त्वचा में नमी बनी रहती है और आपकी त्वचा भी चमकती हुई और नम बनी रहती है। आधा केला लें और इसमें थोड़ा शहद और नीबू मिलाएं। इन्हें एक साथ मिलाएं और इस मास्क को चेहरे पर लगायें। इससे कुछ देर मसाज करें और 15 मिनिट बाद गुनगुने पानी से धो डालने। केले से बना यह होममेड मास्क सभी प्रकार की त्वचा के लिए उपयोगी होता है।

बादाम का फेस मास्क:

बादाम का फेस मास्क सामान्य, आॅयली और रुखी त्वचा के लिए बरसात के दिनों में विशेष रूप से फायदेमंद होता है। यह त्वचा की बढ़ती उम्र के लक्षणों को भी दूर करता है। मानसून के दौरान घर पर ही बादाम का फेस मास्क बनाने के लिए कुछ बादाम लें और उन्हें दूध में भिगो दें।

इन बादामों को पीसकर एक पेस्ट बनायें। इसमें शहद मिलाएं और इस मिश्रण को चेहरे पर लगायें। इसे 20 मिनट तक लगा रहने दें और बाद में ठंडे पानी से धो डालें ताकि इस मास्क का असर दिख सके। – अंजली वर्मा