परदे भी हैं आपके घर की शान
प्राय: आप अपने घर को सुंदर बनाने के लिए तरह-तरह की सजावट करते हैं। घर में प्लांट्स लगाना, फर्नीचर लगाना, दीवारों को सजाना, बिजली के सुंदर-सुंदर उपकरणों का प्रयोग आप करते हैं। ऐसे में पर्दे भी घर की शान होते हैं।

कमरे की दीवारों, दरवाजों, खिड़कियों तथा रोशनी के अनुसार अगर बेहतरीन कलर व डिजाइनदार परदों का चयन किया जाए तो आपके घर को चार चांद लग जाएंगे।

यहां हम आपको बता रहे हैं कुछ टिप्स, जो परदों का चयन करने में आपकी मुश्किल को आसान करेंगे:-

अट्रैक्टिव लिविंग रूम:

सबसे पहले अपने लिविंग एरिया को स्मार्ट टच दें। घर में सोफे के कुशन्स के कलर से मैच करते हुए हैवी परदों का चुनाव करें। ये आपके लिविंग रूम को रॉयल और क्लासी लुक देगा। वॉल कलर को ध्यान में रखते हुए किसी एक वॉल कलर से मैच करते हुए परदों का चुनाव आप कर सकती हैं।

एलिगेंट डायनिंग रूम:

डायनिंग रूम को एलिगेंट और अट्रैक्टिव लुक देने के लिए हैवी ब्रोकेड के फ्लोर टचिंग परदे लगाएं। खाने की टेबल पर बैठने के बाद आपके गेस्ट को एक अलग ही फील मिलेगा।

गेस्ट रूम:

गेस्ट रूम का मेकओवर करने के लिए परदों का चुनाव करते समय कमरे की सीलिंग का विशेष ध्यान रखें। कमरे की सीलिंग से मैच करता हुआ परदा आपके गेस्ट रूम का लुक ही बदल देगा।

सीलिंग अगर क्रीम या व्हाइट है, तो परदे का कलर भी वैसा ही रखें, हो सके तो गोल्ड बॉर्डर दें। यानी व्हाइट/क्रीम परदे के साथ गोल्ड बॉर्डर आपके परदे और कमरे दोनों को रॉयल टच देगा।

बेडरूम:

अपने बेडरूम को डार्क पिंक कलर के परदे से सजाएं। स्ट्राइप्ड पिंक परदे बेडरूम को कंटेपरेरी लुक देते हैं। पिंक के साथ आप दूसरे लाइट कलर भी मिक्स कर सकती हैं। बेडरूम के परदे को हैवी रखने की बजाय, लाइट या सिंथेटिक कपड़े का चुनाव करें। हो सके तो सिल्क के परदे यूज करें।

लॉबी/स्टडी रूम:

अपने लॉबी रूम का मेकओवर करने के लिए सिर्फ ब्लैक एंड व्हाइट परदे का चुनाव कर सकती हैं। इससे यहां बैठकर पढ़ने या फिर दो बातें करने वालों को अच्छा माहौल मिलेगा। यहां के लिए आपको हैवी परदे का चुनाव करना चाहिए।

बच्चों का कमरा:

बच्चों के रूम को सजाने के लिए खिड़कियों पर लंबे परदों की बजाय छोटे परदे लगाएं। इससे वो उसमें फंसकर गिरने से बच जाएंगे। कई बार आपने देखा होगा कि लंबे परदों के पीछे बच्चे छुपकर आपको बुलाते हैं।

बच्चों के रूम को बहुत ज्यादा भरने और हैवी चीजें रखने की गलती न करें, बल्कि वो आसानी से अपने कमरे में घूम सकें। इसलिए लंबे परदों की बजाय छोटे और गहरे रंग के परदों का इस्तेमाल करें।

मेन डोर:

घर का पहला अट्रैक्शन घर का मुख्य दरवाजा होता है। अमूमन देखा गया है कि घर का मुख्य दरवाजा बहुत ही खूबसूरती से बनाया गया होता है।

ऐसे में परदे लगाने के बाद उसकी खूबसूरती कहीं खराब न हो जाए, इसलिए परदों का सिलेक्शन करते समय ध्यान दें। इसके लिए हैवी और ट्रेडिशनल परदे का सिलेक्शन आप कर सकती हैं। इससे कमरे को क्लासी और रॉयल टच मिलेगा।

साफ सफाई का रखें ध्यान:

कुकिंग करते समय खाने की सुगंध और धुंए तथा तेज हवा चलने पर बाहर की मिट्टी आदि, कितना कुछ आपके परदों को झेलना पड़ता है। ऐसे में खूबसूरत परदों के रंग भी फीके पड़ जाते हैं और वो घर की शोभा बढ़ाने के बजाय, उसकी सुंदरता को घटा देते हैं।

• परदों की सफाई के लिए क्या आप तुरंत उसे वॉशिंग मशीन में डालकर धोने की कोशिश करती हैं हो सके तो मशीन की बजाय हाथ से परदों को धोएं। इससे इनकी खूबसूरती बनी रहती है।

• परदों पर ब्रश लगाने की गलती न करें, इससे इसमें रोएं निकल सकते हैं।

• सिल्क के परदों को घर में धोने की बजाय बाहर ड्राईक्लीन के लिए दें।

• परदों को एक-साथ पानी में भिगोने की गलती न करें, इससे एक-दूसरे का रंग आपस में लग सकता है और आपके परदे खराब हो सकते हैं।

• हल्के फैब्रिक वाले परदों की सफाई आप वैक्यूम क्लीनर से भी कर सकती हैं। हफ्ते में एक बार ऐसा करने से परदे साफ और सुंदर दिखेंगे।

• परदों को साफ करते समय कर्टन रिंग्स को साफ करना न भूलें।

• सेंसिटिव फैब्रिक से बने परदों को सीधे धूप में न सुखाएं और न ही ऐसी खिड़की पर टांगें, जहां बहुत ज्यादा धूप आती हो।

• प्रतिदिन हल्के ब्रश से परदों को ऊपर से नीचे की ओर साफ करें। भूलकर भी नीचे से ऊपर की ओर सफाई न करें।

• अगर आपके परदे कॉटन के हैं, तो आप उसे हर हफ़्ते वॉशिंग मशीन में धो सकती हैं।

कुछ अन्य सुझाव:

• खिड़कियों पर परदे लगाते समय इस बात का ध्यान रखें कि दीवारों, फर्नीचर, कारपेट और परदों के बीच सही तालमेल हो।

• दिन में परदों को पूरा फैलाने की बजाय साइड में लपेटकर खूबसूरत डोरी/बैंड से बांधें। इससे दिन के समय घर में रोशनी भी आएगी और परदे देखने में खूबसूरत भी लगेंगे।

• अगर आपके कमरे में बहुत तेज धूप आती है, तो डार्क कलर के शीयर कर्टन या रोमन ब्लाइंड का इस्तेमाल कर सकती हैं।

• अगर आपके कमरे में पर्याप्त रोशनी नहीं आती, तो डार्क की बजाय हल्के रंग के परदों का इस्तेमाल करें।

• अगर आपके लिविंग रूम की खिड़की की चौड़ाई बहुत अधिक है, तो ब्लाइंड का इस्तेमाल करें। रिमोट से नियंत्रित होने वाले ब्लाइंड भी मिलते हैं, इसका इस्तेमाल करना बहुत आसान होता है।

-सिमरन मेहता