पौधे खरीदते समय बरतें सावधानी : आजकल न वो बाग रहे, न वो बगीचे। प्राकृतिक छटा को अपने घर में उतारने के लिए लोग गमले सजाते हैं या फिर क्यारियां बनाते हैं। इन गमलों या क्यारियों में वे आकर्षक पौधे लगाते हैं एवं अपने घर को सजाते हैं। इन गमलों या क्यारियों में पौधे लगाने के लिए जो पौधे खरीदें उसके विषय में पहले से सोच-विचार कर लें। सोचने के बाद ही उन्हें खरीदने का कोई निर्णय लेंं।

पौधे खरीदने से पहले यह जांच लेना जरूरी होता है कि पौधे गमलों में लगाने हैं या क्यारियों में।
गमले कहां या किस स्थान पर रखने हैं? क्यारियां कहां बनानी हैं? क्या गमलों पर धूप लग पायेगी या क्यारियों तक धूप पहुंच पाएगी? गमलों के लिए पानी की क्या व्यवस्था है? क्यारियों के लिए भी पानी की व्यवस्था को पहले ही जांच लेंं। वहां मौसम के क्या मिजाज हंै? गमलों की मिट्टी कैसी है। क्यारियों की मिट्टी को भी देख लें कि वह पौधे लगाने लायक है या नहीं।

जब भी आप पौधे खरीदने नर्सरी में जायें तो वे ही पौधे खरीदें जो आप पहले से सोच विचार करके आये हैं। वहां आपको कुछ पौधे अधिक आकर्षक लगेंगे और आपका ध्यान अपनी तरफ खींचेंगे। ऐसे पौधों के मोहजाल में न फंसें। इसके अलावा जो पौधे आप खरीदें, उनके विषय में यह अवश्य मालूम कर लें कि वे किस किस्म के पौधे हं तथा उन्हें कितनी धूप, कितने पानी की आवश्यकता है? कितने समय पर खाद की जरूरत होती है? ये सब बातें पौधे को खरीदते समय जान लेना जरूरी होता है जिससे आगे उसे नुक्सान न पहुंचे।

यदि घर में क्यारियों के लायक जगह न हो और घर में जगह भी कम हो, तब घर में गमले हिसाब से लगायें। गमलों में लगाने के लिए पौधे छोटे ही खरीदें, बड़े न खरीदें। गमले के लिए खरीदा गया पौधा ऐसा न हो जो धीरे-धीरे बड़ा होकर गमले को ही तोड़ दे। गमलों में ऐसे सजावटी व आकर्षक पौधे लगायें जिनमें फूल भी आते हों और जिनसे घर में हरियाली भी रहे।

गमले में ऐसे पौधे लगायें जो छाया में भी रखे जा सकें, जिससे कम जगह होते हुए भी गमलों से घर को सजाया जा सके। छायादार पौधे के गमले को बालकनी, ड्राइंगरूम, सीढ़ियों आदि पर रखा जा सकता है। इससे कम जगह में भी आपका शौक पूरा हो जायेगा और घर की सजावट में भी चार-चांद लग जायेंगे, किन्तु सजावटी पौधों को अधिक देखभाल की जरूरत होती है, इसका खास ख्याल रखें।

पौधे खरीदते समय यह अवश्य देख लें कि उस पौधे के तना-पत्तियां तो अच्छी तरह फल-फूल रहे हैं या नहीं। कहीं पौधे में कोई बीमारी तो नहीं लगी! उसके तने आदि में कोई कीड़ा न लगा हो। यदि किसी आकर्षण के कारण बीमारी युक्त पौधा खरीद लिया तो कुछ ही दिनों बाद वह मुरझा जायेगा या सूख जायेगा। साथ ही उसे जो बीमारी है वह अन्य गमलों के पौधों में भी फैल सकती है।

गमलों में लगाने के लिए ऐसी लताएं एवं बेलें खरीदें, जिनसे बेकार की जगह न घिरे और वे सुन्दर भी लगें। ऐसी लताएं घर के उस कोने में रखें जिसे छिपाना चाहते हो। पौधे खरीदकर घर लाते वक्त सावधानी बरतें जिससे उनके किसी अंग को परेशानी न पहुंचे।
– शिखा चौधरी